FLASHSIDDHARTHNAGARउत्तर प्रदेशव्यापार

अनुसुचित जाति एवं जनजाति आयोग अध्यक्ष का शोहरतगढ़ में हुआ भब्य स्वागत

अनुसुचित जाति एवं जनजाति आयोग अध्यक्ष का शोहरतगढ़ में हुआ भब्य स्वागत

शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर। अनुसुचित जाति एवं जनजाति आयोग अध्यक्ष व पूर्व डीजीपी उ.प्र.मंगलवार को पूर्व माध्यमिक विद्यालय शोहरतगढ़ के बच्चों से संवाद कार्यक्रम में अपनी पत्नी के साथ बतौर मुख्य अतिथि पहुँचे। जहाँ उन्होंने दीप प्रज्वलित कर मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण किया। विद्यालय परिसर में बच्चों ने उनका अभिवादन जय हिंद व सरस्वती वंदना के प्रस्तुत कर किया। इसके पश्चात विद्यालय के शिक्षकों और गणमान्य लोगों ने पूर्व डीजीपी बृजलाल का माल्यार्पण कर व उनकी पत्नी को पुष्प भेंट कर भब्य स्वागत किया। पूर्व माध्यमिक विद्यालय शोहरतगढ़ के प्रागण में स्कूली बच्चों से संवाद कार्यक्रम के दौरान अनुसूचित जाति एंव अनुसूचित जन जाति आयोग अध्यक्ष बृजलाल ने कहा कि गुरूजनों का आदर करते हुए उनके द्वारा दी गई शिक्षा को मेहनत से ग्रहण कर लक्ष्य की प्राप्ति के लिये बच्चों को अनवरत आगे बढना होगा। आयोग अध्यक्ष ने यह भी कहा की बच्चों को अपने जीवन में स्मार्टफोन की उपयेागिता सकरात्मक कार्यों मे ही करें, अनावश्यक कार्य में उपयोग करने पर भविष्य अंंधकार मे होगा। शिक्षा की गुणवत्ता को प्रभावी बनाने के लिये सभी को सजग रह कर इमानदारी से कार्य करने की जरूरत हैं। उन्होनें स्कूल के कक्षा 8 के छात्र इन्द्रजीत, रिंकी यादव, राहुल, कक्षा 7 के छात्र प्रिंस, अरूण, कक्षा 6 के छात्र अनूप, संध्या व प्रिया से बातचीत कर मेहनत से पठन -पाठन करने की सलाह दी। साथ ही उद्देश्य की प्राप्ति के लिये प्रतिदिन स्कूल पहुचकर गुरूजनों द्वारा दी जाने वाली शिक्षा को ग्रहण करने को कहा। छात्रों ने आयोग अध्यक्ष के प्रश्नोंं का बेबाकी से उत्तर देते हुए अपने उद्देश्य व मन की बात का साझा किया। बच्चों और शिक्षकों से अपने जीवन के कठिन परिश्रम, परिस्थितियों और उपलब्धियों को साझा किया। उन्होंने कहा कि जब कोई उद्देश्य बना लिया जाता है, और उद्देश्य के प्रति दृढ इच्क्षा से मेहनत किया जाता है, तो उस उद्देश्य की पूर्ति अवश्य होती है। अंत में उन्होंने छात्रों की उज्जवल भविष्य की कामना की। उन्होंने कहा अपना लक्ष्य निर्धारित करो और उस लक्ष्य के प्रति पागल हो जाओ, तो मंजिल क़दमों में होगी। हमारे समय में मूलभूत सुविधाओं की कमी थी। बच्चों को देखकर बड़ी खुशी होती है। आज सभी संसाधन सरकार दे रही है, जबकि उस समय मां बाप पर निर्भर थे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि शिक्षा के मंदिर में गंदगी न फैलाएं। अभावग्रस्त बालक ही देश के सर्वोच्च पद पर पहुंच सकता है। शिक्षा पर सरकार बहुत पैसा खर्च कर रही है, पर जो गुणवत्ता होनी चाहिए वो नही है। आज नकल का प्रचलन है, जिससे बच्चों का भविष्य बर्बाद ही होगा। अत: आप सभी खूब पढ़े व खूब बढ़ें।
अपने छात्र जीवन की याद को ताजा करते हुए इस विद्यालय के सन् 1960 के दशक के प्रवेशपंजी में अपना नाम देखकर काफी प्रसन्न हुए। अन्त में आयोग अध्यक्ष ने बच्चों का उत्साह बढ़ाते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना किया। कार्यक्रम में फुड कमीशन मेम्बर सरोज, उपजिलाधिकारी अनिल कुमार ,खण्ड शिक्षा अधिकारी रीता गुप्ता, धीरेन्द्र त्रिपाठी ने भी अपने विचार रखे। विद्यालय परिसर मे आयोग अध्यक्ष ने आधा दर्जन पौधों का रोपण भी किया। कार्यक्रम का संचालन मुस्तन शेरूल्लाह ने किया। कार्यक्रम दौरान गड़ाकुल ग्राम प्रधान श्यामसुंदर चौधरी, शिक्षक नेता लालजी यादव, मनोज यादव, सदानंद उपाध्याय, सपा नेता वीरेन्द्र तिवारी, घनश्याम, मुश्तन शेरुल्लाह, अभय सिंह, गायत्री देवी, प्रवीण कुमार यादव, पप्पु कुमार, वर्तिका यादव, शिवमगंल, अमित चौधरी, महेश त्रिपाठी, मनोज कुमार त्रिपाठी, स्मृति, स्वाती वर्मा, राघवेन्द्र पाण्डेय, कुश कुमार, गुलाब यादव, वंदना सिंह सहित कांस्टेबल अखिलेश यादव, आनंद चौरसिया, राजू चौहान एसआई जीवन त्रिपाठी, अनुज यादव, अविनाश आदि उपस्थित रहे। तत्पश्चात आयोग अध्यक्ष व पूर्व डीजीपी अपनी पत्नी संग शोहरतगढ़ के नीबी दोहनी स्थित राज पैलेस पर गए जहाँ राजा योगेंद्र प्रताप सिंह ने उनका व उनकी पत्नी का स्वागत किया। बताते चलेेंं कि पूर्व डीजीपी बृजलाल और राज परिवार शोहरतगढ़ में बहुत ही गहरा नाता है। इसी क्रम में पूर्व डीजीपी शोहरतगढ़ थाना परिसर पहुँचे। जहाँ थानाध्यक्ष शोहरतगढ़ अवधेश राज सिंह ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। गार्ड आफ आनर सम्मान लेते समय मौजूद राइफल मैन द्वारा कुछ गलती कर जाने पर पूर्व डीजीपी बृजलाल ने उनको सही तरीका सिखाया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button