FLASHINDIAMAHARAJGANJUTTAR PRADESH

*सिटिजन फोरम का अमृत महोत्सव का आयोजन शहीद ग्राम विशुनपुर गबडुआ मे शहीदों को किया गया याद शहीदों के परिजनों को तिरंगा देकर किया गया सम्मानित*

याद

सिटीजन फोरम का अमृत महोत्सव का आयोजन
शहीद ग्राम विशुनपुर गबडुआ में शहीदों को किया याद
शहीद के परिजनों को तिरंगा देकर किया सम्मानित
आशीष कुमार गौतम ब्यूरो चीफ पुलिस मुखबिर न्यूज

 

महराजगंज l सामाजिक संस्था सिटीजन फोरम महाराजगंज की ओर से 6 अगस्त से 11 अगस्त तक 11 दिन का कार्य योजना तैयार कर आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है उसी क्रम में आज तीसरे दिन सिटीजन फोरम के लोगों ने जनपद के एकमात्र शहीद ग्राम बिशुनपुर गढ़वा पहुंचकर शहीद स्मारक पर शहीदों को न सिर्फ याद किया बल्कि उनके परिजनों को तिरंगा देकर सम्मानित किया और उक्त गांव के 3 शहीद समता संग्राम सेनानियों सहित 11 सफलता संग्राम सेनानियों को याद करते हुए भारत के राष्ट्रीय आंदोलन उनकी उपयोगिता को रेखांकित किया l

वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्री कृष्ण मोहन अग्रवाल ने इस अवसर पर उपस्थित का संग्राम सेनानियों के परिवारों सहित ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि घर-घर तिरंगा लगाते चलो, देश प्रेम की गंगा बहाते चलो। तिरंगा देश की एक सूत्रता का प्रतीक है।
महासचिव विमल कुमार पांडे ने कहा कि तिरंगा राष्ट्रीय पर्व तथा देश की आन बान शान का प्रतीक है। राष्ट्रीय पर्व व तिरंगा सामाजिक पर्वों, धर्म, मजहब, जाति से ऊपर होते हैं।
फोरम के कोषाध्यक्ष दिलीप शुक्ला मीडिया प्रभारी डॉ.शांतिशरण मिश्र हरिकेश बहादुर सिंह ने कहा कि देश सुरक्षित है तभी हम धर्म, जाति तथा अपने पर्वों व सुखमय जीवन का आनंद ले पाते हैं। यही तिरंगा विदेशों में किसी सम्मेलन में या खेलकूद में ही भारत की पहचान होता है।
वरिष्ठ सदस्य रामप्रकाश गुप्त पशुपति नाथ तिवारी विनोद गुप्ता ने कहा कि यूक्रेन में तिरंगा का महत्व सबको पता ही है। हम जब कोई राष्ट्रीय पर्व मनाते हैं तो हमारी एकता का संदेश पूरी दुनिया में जाता है। हमारे देश की भावना आपस में जो भी हो परंतु देश के संकट या युद्ध में पूरा देश एक हो जाता है, यही तो है हमारी असली ताकत। जिससे मित्र देश प्रसन्न होते हैं तथा दुश्मन देश घबड़ाते है।
इस अवसर पर फोरम के सदस्य गजेंद्र मणि त्रिपाठी ग्राम प्रधान ज्वाला चौधरी ग्राम पंचायत सचिव सुनील कुमार गुप्त शहीद काशीनाथ के पौत्र बसन्त चौधरी सहित तमाम ग्रामीण उपस्थित रहे l

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button