MAHARAJGANJUTTAR PRADESH

भ्रष्टाचार के खिलाफ फार्मेसी एण्ड फार्मासिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन ने सौंपा ज्ञापन

वेलफेयर एसोसिएशन ने सौंपा ज्ञापन

 

भ्रष्टाचार के खिलाफ फार्मेसी एण्ड फार्मासिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन ने सौंपा ज्ञापन

 पीएम न्यूज सर्विस महराजगंज। फार्मेसी एण्ड फार्मासिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के मुख्य सचिव श्रीमती अनीता सिंह एवं सहायक आयुक्त मुख्यालय दिनेश कुमार तिवारी के भ्रष्टाचार एवं ड्रग एण्ड कास्मेटिक एक्ट के विपरित कार्य करने के खिलाफ मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सोंपा है।

इस मौके पर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष प्रवीण कुमार गुप्ता ने कहा कि उपरोक्त दोनों अधिकारियों के सांठ-गांठ से मोटी रकम वसूलने के लिये आन लाइन लाईसेंस प्रणाली प्रक्रिया हेतु जो पोर्टल बनाया गया है और जो साफ्टवेयर खरीदा गया है, उसमें करोड़ों रूपये का गोलमाल किया गया है।

भ्रष्टाचार को छिपाने के वजह से लाइसेंसिंग व्यवस्था को सार्वजनिक नहीं किया गया है। सहायक आयुक्त औषधि श्री तिवारी का ट्रांसफर कानपुर मण्डल हो गया है लेकिन खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की मुख्य सचिव श्रीमती अनीता सिंह यह चाहती है कि दिनेश कुमार तिवारी को मुख्यालय का अतिरिक्त चार्ज देने के फिरार में है। ताकि पहले की तरह लेन देने की व्यवस्था बनी रहे।

ज्ञापन में यह भी लिखा गया है कि प्रदेश भर में आन लाइन पोर्टल/साफ्टवेयर का संचालन एक साफ्टवेयर इंजीनियर के द्वारा ही कराया जाना सुनिश्चित हो जो आईटी सेक्टर के लिये पात्र है। जबकि औषधि निरीक्षक एवं औषधि अनुज्ञापन प्राधिकारी इसके लिये पात्र नहीं है। इसलिये आन लाइन पोर्टल व साफ्टवेयर के संचालन की जिम्मेदारी किसी अभियंता को दिया जाय।

औषधि निरीक्षक का जो ट्रांसफर हुआ, उसमें भी प्रमुख सचिव के द्वारा ट्रांसफर नीति को दरकिनार कर जो औषधि निरीक्षक इनके करीब है तथा जनपद में पांच साल से ज्यादा समय से जमे है, उनका फाइल ट्रांसफर के लिये नहीं बनाया गया है। उनका ट्रांसफर नहीं हुआ। और पांच-छ: साल से एक ही जनपद में जमे हुये है और भ्रष्टाचार को अंजाम दे रहे है। जिनका तत्काल तबादला किया जाय।  प्रदेश में जिला स्तर पर औषधि निरीक्षक द्वारा सीजर की प्रक्रिया के क्रम में लगभग २० प्रतिशत मेडिकल स्टोरों का परिवार दाखिल नहीं किया जाता जबकि लेनदेन करके मामला दबा दिया जाता है।

उन्होंने तत्काल एक विशेष टीम का गठन कर निष्पक्ष जांच कराते हुये विधिक कार्यवाही करने की मांग किया है। अन्यथा संगठन बड़े पैमाने पर लखनऊ मुख्यालय पर वृहद आन्दोलन करेगा।
ज्ञापन सौंपने के दौरान अजीत मिश्रा, शेषमणि गुप्ता, शकील अहमद, दिग्विजय सिंह आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button