MAHARAJGANJUTTAR PRADESH

पत्थर की जगह मिट्टी एवं सेम ईट के टुकड़े से बन रहा तटबंध 

सेम ईट के टुकड़े से बन रहा तटबंध 

पत्थर की जगह मिट्टी एवं सेम ईट के टुकड़े से बन रहा तटबंध 

 चहेते ठेकदार से जैसे तैसे कराया जा रहा तटबंध मरम्मत कार्य

  पीएम न्यूज सर्विस महराजगंज। बरसात के मौसम को देखकर बाढ आपदा के नाम पर सरकार की ठोस पहल नदियों के तटबंध की मरम्मत के लिए करोड़ों रूपये खर्च कर रही हैं। जो बाढ आपदा से बचाया जा सके लेकिन सदर ब्लाक अंतर्गत ग्राम सभा जगपुर उर्फ सलामतगढ़ स्थित रोहिन नदी तटबंध का हाल बहुत बुरा है। जो पिछले कई दिनों से रोहिन नदी की बाध का कार्य हो रहा था।

विगत दिनों से रुक-रुक तटबंध कार्य करना या कहे तो बरसात होने का इन्तजार करना सिंचाई विभाग की फितरत नजर आ रही है।
मुख्य कटान पर मरम्मत न होने से जगपुर उर्फ सलामतगढ़, औरहवा, पिपरहवा, गौरहपुर, मगरहिया, खालिकगढं, बैरिहवा सहित दर्जनों ग्राम सभाओं पर बरसात के मौसम में सर्वाधिक बारिश होने से रोहिणी नदी की बाढ़ के वजह व तेज रफ्तार से चलने वाली धाराओं व कटान से ग्रामीणों में तबाही की मंजिल नजर दिख रहा है। जो आने वाले दिनों में दर्जनों ग्राम सभाओं को प्रभावित करेगा। सैकड़ों एकड़ फसलों को नष्ट करता है। जिससे क्षेत्रीय किसानों में भय का संकट अभी से मंडरा रहा है। ऐसे में जिला प्रशासन की लापरवाही व गुणवत्ता को लेकर सवाल उठ रहे हैं। जगपुर उर्फ सलामतगढ तटबंध की मरम्मत के लिए पत्थर व बोल्डर की जगह मिट्टी व थर्ड क्लास की ईट से तटबंध कार्य हो रहा है। जो बरसात के मौसम में अधिक बारिश होने से रोहिन  नदी तबाही दिखा सकती है।

जानकारी के अनुसार जगपुर उर्फ सलामतगंढ तटबंध के  कार्य के लिए सिंचाई विभाग ने इस साल लगभग 40 से 50 लाख रूपये से तटबंध का कार्य अपने चहेते ठिकेदारों द्वारा कराया जा रहा है। यह कार्य हर साल इतना रुपये मरम्मत में खर्च कर देती हैं। जो इस साल ठिकेदारो द्वारा तटबंध का कार्य  12 मीटर ऊंचाई का 180 मीटर जिओ सीट लगाना है। जिसमें कार्य न होने से नदी की कटान करके कई ग्राम सभाओं को प्रभावित कर देगा और कई सौ एकड़ खेतों की फसलों को बर्बाद कर देगा।

इस बावत ग्राम सभा के ग्राम प्रधान धर्मेन्द्र कुमार मौर्य ने कहॉ कि इस बाध के लिए जिलाधिकारी को कई बार प्रार्थना पत्र दिया गया है लेकिन लापरवाही से हो रहे कार्य से सभी दुखी है। ग्रामीणों महेंद्र, सुरेंद्र, सुग्रीव, पहलाद, राजेश, उपेंद्र, धीरेंद्र, संतोष, मनोज, प्रेमचंद, छोटेलाल, बनवारी, मिथिलेश, शिवशंकर, राजकुमार, धीरज आदि ने जिला प्रशासन से तटबंध मरम्मत की जांच कराकर संबंधित ठेकेदार के खिलाफ  कार्रवाई व बाढ़ आने से पहले तटबंध मरम्मत कार्य पूर्ण करने की मांग किया है।

इस सम्बन्ध में सिचाई विभाग द्वितीय के अवर अभियन्ता  विनोद कुमार  ने बताया कि टूटे बांध की मरम्मत कार्य प्रगति पर है। संम्बधित ठेकदारंो को समय से पहले कार्य करने का निर्देश दिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button