गोण्डा: वैवाहिक वर्षगांठ पर उपनिरीक्षक ने बच्चों को सौंपी सौगात

0
292
  • जब दो माह से बिछडी बच्चों से मिली मां, तो छलक उठी आंखे
गोण्डा। कहते है जहां नियत और जब कार्य करने का जज्वा होता है तो कारवां स्वयं अपना रास्ता बना लेता है, हुआ यूं कि लाकडाउन का सख्ती से पालन कराने हेतु क्षेत्र में भ्रमण पर रहे उपनिरीक्षक रतन कुमार पाण्डेय की नजर रोडवेज के पास अकेली बैठी एक महिला पर पडी जिससे बात करने पर पता चला वह कई दिनो भूखी होने के साथ ही अपने घर नवाबगंज जाना चाहती है ।
जिसे महिला आरक्षी वंदना रावत की मदद से भोजन कराने के उपरांत शान्ति देवी के गुमशुदा और मिलने की जानकारी उपनिरीक्षक रतन पाण्डेय ने थाना नवाबगंज के उपनिरीक्षक सुनील तिवारी को दी जहाँ गुम शुदा की पुष्टि होने के बाद  नवाब गंज से आयी पुलिस और महिला आरक्षी की टीम शानती देवी को अपने साथ ले गयी और परिजनों के सुपुर्द कर दिया। जनपद की तमाम चौकी और थानो पर कार्य करने के दौरान आम जनमानस के बीच पुलिस के प्रति विश्वास और कर्मठता की अलख चगाने वाने नगर कोतवाली मे तैनात उपनिरीक्षक रतन कुमार पाण्डेय को ऐसे कार्य के लिऐ आज जनता जानती व पहचानती चली आ रही है।
इससे पूर्व आपने बडगांव चौकी पर रहते शबनम नामक एक महिला जो पूरी तरह से जली और घायल थी उसके चिकित्सा की व्यवस्था आम नागरिकों के सहयोग से आप ही करते आ रहे है जिस वजह से शबनम पाण्डेय जी को अपने मसीहा से कम नहीं मानती।खैर आज अपने वैवाहिक वर्षगांठ पर उप निरीक्षक रतन पाण्डेय ने छोटे -छोटे बच्चों. से उसकी मां से मिलाकर प्रसंसनीय कार्य किया वही.वही अपनी मां को देख बच्चों की आंखे छलक आयी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.