Policemukhbir.Com
(पीएम) संवाददाता सिद्धार्थनगर। थानाक्षेत्र शोहरतगढ़ के डोहरिया चौराहे पर शनिवार को डायल 100 की पीआरबी 1528 पुलिस के कमान्डर उपेन्द्र सिंह ने वहां मौजूद ग्रामीणों को अग्नि सुरक्षा के बारें में विस्तार से बतात हुए कहा कि गर्मी के मौसम में आग लगने की सम्भावना ज़्यादा होती है। इसके लिए आग बझुाने से बेहतर है आग की रोकथाम की जाए। उन्होंने

ग्रामीणों को समझाते हुए बताया कि आप सभीलोग अपनी दिनचर्या में इन बातों का ध्यान ज़रूर दें। जैसे हुक्का, चिलम, बीड़ी व चिगरेट पीनेके बाद उसको अच्छी तरह बुझाएं। चुल्हे की गरम राख को पूरी तरह ठंडा करके फेकिये। रसोई घर अथवा जानवर बााँधने की जगह की छत अगर फूस की है तो उसके अंदर की ओर मिट्टी का लेप लगाइये। घी व तेल की आग को बालू व मिट्टी डाल कर बुझाएं, न की पानी से। गैस चूल्हे को हमेशा गैस सिलेंडर से ऊंची जगह पर रख कर खाना बनाएं। गैस लीक होने पर और इस्तेमाल के बाद सिलेंडर का रेगुलेटर बंद कर दें। गैस सिलेंडर को हमेशा खड़ा कर के रखें। खलिहान के आस-पास पानी की सुविधा, पानी के घड़े अथवा गड्डों में पानी भरकर तैयारी रखें, साथ ही बालू के ढेर तैयार रखें।
खलिहान को रेलवे पटरी या रसोई से कम से कम 100 फीट की दूरी पर रखें। खलिहानों को बिजली की तारों व  ट्रांसफार्मर से दूर बनाएं। थ्रेशर में गीली फसल लगाने से घर्षण होता है जिससे आग लगने का खतरा रहता है। खेत व खलियान के चारों तरफ जुताई करें, जिससे आग न फैलेंं। पुआल (पैरा) व कण्डों को घर से कम से कम 100 फीट की दूरी पर लगाएं। आतिशबाज़ी घरों और खलियानों से कम से कम 500 फीट की दूरी पर करें।
जानवरों को लोहे की ज़ंजीर से न बांधें, केवल रस्सी का प्रयोग करें। कूड़े-कचरा व पैरा को तेज़ हवा के चलते समय न जलाएं। कटाई के बाद भूसे के गट्ठर बनाकर सुरक्षित जगह पर रखें। इस दौरान डायल 100 की पीआरबी 1528 पुलिस के सब कमान्डर धर्मेन्द्र सिंह चालक प्रकाश उपाध्याय सहित ग्राम प्रधान महेन्द्र चौधरी मास्टर शायान मास्टर अरहान दिलीप कुमार रंजीत कुमार राम नेवास विजय बहादुर पालू, हरिद्वार राजाराम खदेरु परमेश्वर सहित दर्जनों लोग मौजूद रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.