आयोग के मंशानुरूप निर्वाचन सम्बन्धी विभिन्न कार्यों का सम्पादन समयबद्ध ढंग से किये जायें- जिला निर्वाचन अधिकारी।

सुलतानपुर 13 मार्च, भारत निर्वाचन आयोग के मंशानुरूप समस्त उप जिलाधिकारी मतदाता पहचान पत्र का वितरण सम्बन्धित मतदाताओं को उपलब्ध कराकर रजिस्टर में अंकन अवश्यक करायें तथा वितरण का रैण्डम चेकिंग भी किया जाय। इसके साथ-साथ ही साथ ईवीएम व वीवी पैट के प्रक्रिया का प्रशिक्षण जन सामान्य को दिये जाने हेतु तहसीलों में कार्मिक तैनात कर दिया जाय।
यह निर्देश जिला निर्वाचन अधिकार/जिलाधिकारी दिव्य प्रकाश गिरि की अध्यक्षता में निर्वाचन सम्बन्धी विभिन्न कार्यों की आज अपने कैम्प कार्यालय में आयोजित समीक्षा बैठक में सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होंने फार्म- 6, 7, 8 व 8ए फीडिंग स्टेट्स की समीक्षा करते हुए आयोग से प्राप्त दिशा निर्देशों के अनुरूप कार्य किये जाने हेतु समस्त उप जिलाधिकारी से कहा कि आयोग के पत्र बारीकी से पढ़ लें और उसी के अनुरूप फार्म-6 की फीडिंग का कार्य करायें, जिनके यहां फीडिंग कार्य धीमा चल रहा है, उसमें तेजी लायी जाय तथा फार्म- 7 के लिये गहन परीक्षण के पश्चात् ही मतदाता सूची से नाम हटाया जाय। उन्होंने तहसीलवार मतदाता पहचान पत्र वितरण की समीक्षा करते हुए पाया कि जुलाई 18 से जनवरी 19 के बीच लगभग 42 हजार मतदाता पहचान पत्र प्राप्त हुए है, जिसके सापेक्ष 31 हजार 488 मतदाता पहचान पत्र तहसीलों को वितरण किये जाने हेतु भेजा जा चुका है। जिसका वितरण समस्त एसडीएम अपने क्षेत्रीय लेखपालों से कराते हुए प्राप्ति रसीद ली जाय और पंजिका में वितरण में अंकन कर पत्रावली में सुरक्षित रखा जाय।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने स्वीप कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि अपने-अपने क्षेत्रों के मतदाताओं को जागरूक करने के लिये तहसील स्तर पर ईवीएम व वीवी पैट का प्रशिक्षण दिये जाने हेतु एक कार्मिक की तैनाती करें और प्रतिदिन उसका प्रदर्शन कराया जाये, ताकि जन सामान्य को जानकारी मिल सके। इसके अलावा एलईडी वैन के माध्यम से जो प्रचार-प्रसार क्षेत्रों में ईवीएम व वीवी पैट का किया जा रहा है। उसकी सूची उन्हें जरूर उपलब्ध करायी जाय। उन्होंने कहा कि वीडियो वैन की मानीटरिंग प्रतिदिन सभी एसडीएम स्वयं करें तथा जिस क्षेत्र में एलईडी वैन को भेजा जाना हो सम्बन्धित क्षेत्रों में व्यापक प्रचार-प्रसार क्षेत्रीय राजस्व कर्मियों आदि से कराये जायें तथा स्थानीय प्रेस प्रतिनिधियों से सम्पर्क कर समाचार पत्रों में प्रकाशन भी कराया जाये।
बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी समस्त उप जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि अपने-अपने क्षेत्रों में पैनी नजर रखते हुए किसी राजनैतिक दलों आदि की होर्डिंग्स, पोस्टर, वाल पेन्टिंग तत्काल हटवायी जाय तथा पोलिंग सेन्टरों को एक बार अवश्यक देख लें कि कहीं वाल राईटिंग आदि तो नहीं है। उसे तत्काल मिटवाया जाय और आयोग के मंशानुरूप आदर्श आचार संहिता का अक्षरशः पालन किये जायें। उन्होंने सी-बिजिल एप 18 मार्च से शुरू किये जाने हेतु आवश्यक उपकरण की व्यवस्था सुनिश्चित करते हुए कार्मिकों की तैनाती एवं प्रशिक्षण दिलाया जाये, ताकि प्राप्त होने वाली शिकायतों का तत्काल सम्बन्धित को हस्तानान्तरित कर निस्तारण समय से किये जा सके। इसमें किसी प्रकार की ढिलाही न बरती जाय।
उन्होंने आयोग के निर्देशानुसार दिव्यांग एवं महिला मतदाताओं जिनका नाम मतदाता सूची में नहीं है उनका फार्म-6 भरवाकर अग्रिम कार्यवाही किये जाने के निर्देश सम्बन्धित को दिये। उन्होंने दिव्यांग मतदाताओं के टैगिंग की का सत्यापन करने का निर्देश उप जिलाधिकारियों को दिये तथा मतदान के दिन पोलिंग स्टेशन पर ले जाने के लिये वाहन की व्यवस्था हेतु कार्य योजना बनाने के निर्देश दिये। जिला दिव्यांगजन कल्याण अधिकारी चन्द्रेश त्रिपाठी ने बैठक में बताया कि जनपद के 5454 दिव्यांगजनों को उपकरण दिये जा चुके हैं और मतदान दिवस के दिन दिव्यांगजनों को मतदान के लिये वाहन से लगभग 50 मतदान स्थलों पर स्वयं कराने की जानकारी दी। डीएम ने सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि अपने-अपने क्षेत्रों में दिव्यांगजनों को मतदान कराये जाने हेतु रोजगार सेवक को लगाया जाये।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी(प्रशा0)/उप जिला निर्वाचन अधिकारी हर्ष देव पाण्डेय, एसडीएम सदर रामजी लाल, एसडीएम बल्दीराय प्रिया सिंह, एसडीएम लम्भुआ राजेश सिंह, एसडीएम जयसिंहपुर राम औतार, एसडीएम कादीपुर जयकरन, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी राजेश कुमार आदि उपस्थित रहे।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.