Policemukhbir.Com
(पीएम) संवाददाता
महराजगंज। बृजमनगंज ब्लाक के आलमाइटी पब्लिक इंटरमीडिएट कालेज में कक्षा 12 के छात्रों का विदाई किया गया। जिसमें विद्यालय की परम्परा के अनुसार कक्षा 11 के छात्र .छात्राओं ने अपने सीनियर्स को विदाई दी।


कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए विद्यालय के प्रबंधक महमूद आलम ने कहा कि आज हम बड़ी संख्या में छात्र.छात्राओं के युवा समूह कोए इस विद्यालय में लगभग 12 साल व्यतीत करने के बाद विदाई देने के लिए इक_ा हुए हैं। आप सभी नेए यहाँ से बाहर जाकर कॉलेज से जुडऩे और देखने के लिए वर्षों का इंतजार किया है आखिरकारए इतने लम्बे इंतजार के बाद वो दिन आ ही गया जब आप इस स्कूल को छोडक़र अपने भविष्य को नया रुप देने के लिए कॉलेज में प्रवेश लेंगे।

मेरे प्यारे छात्रोंए आप सभी को मेरी यह सलाह है किए इस स्कूल की दहलीज पर खड़े होकर पीछे की ओर मुडक़र मत देखना। आगे की ओर देखते हुए और आगे बढ़ते हुए संसार को देखनाए हमारी शुभकामनाएं सदैव आपके साथ हैं। मेरे बच्चों संसार को आप जैसे अधिक बुद्धिमान युवाओं की आवश्यकता है। सफलता आपके रास्ते में होगी। बस अपने दिमाग में यही रखना किए आप अपने सभी कार्यों में सही हो और यह भी मत भूलना किए सच की हमेशा जीत होती है। दूसरों को खुश करने की अपनी शक्ति का प्रयोग सभी को खुश करने में करना न कि दुखी करने में। किसी भी बुरी स्थिति में कभी भी आत्मसमर्पण मत करना और खुद में विश्वास रखना।
जाओ और अपना नामए धनए प्रसिद्धि कमाओ और हमारे पास अपनी सफलता की कहानी सुनाने के लिए वापस आओ। मैं स्वामी विवेकानन्द जी के द्वारा कहे गए कुछ शब्दों को कहना चाहता हूँरू श्एक विचार लो और उस विचार को अपने जीवन का सार बना लो. उसी को सोचो और उसी के स्वप्न देखो। उस विचार से अपने मस्तिष्कए पेशियोंए कोशिकाओंए शरीर के हरेक भाग को उससे भरने दो और दूसरे अन्य विचारों को अकेला छोड़ दो। यही सफलता का रास्ता है।श्

विद्यालय के प्रधानाचार्य सुनील कुमार ने विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए उन्हें बोर्ड परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने को कहा। उप प्रबंधक मकसूद आलम ने कहा कि विद्यार्थियोंए हमें आप सभी को उज्ज्वल भविष्य के लिए तैयार करने और आकार देने में 12 साल का लम्बा समय लगा। समय के साथ अध्यापकों ने भी विद्यार्थियों के साथ में बहुत कुछ सीखा। इसलिए मैंने भी यही कियाए मैंने आप में अपना बचपन बढ़ते हुए देखा है। आगे बढऩे और छात्रों को आकार देने के लिएए छात्रों और अध्यापकों को साथ में मिलकर प्रयास करने पड़ते हैं और अच्छे परिणामों के लिए साथ मिलकर एक ताकत के रुप में कार्य करना पड़ता है।

विद्यार्थीए अध्यापकों के कार्यों का विषयए अध्यापकों के विचारों का लक्ष्य और अध्यापकों के प्रयासों प्रतिबिम्ब होते हैं। यह सत्य है किए हमने आप सभी को शिक्षित किया है हालांकिए यह भी सत्य है किए हमने भी आप सभी से बहुत कुछ सीखा है। यह बहुत लम्बा सफर था हालांकिए आप सभी की भविष्य में कुछ बेहतर करने की दृढ़इच्छा के कारण बहुत जल्दी बीत गया।

इस स्कूल ने आपके बचपन और किशोरावस्था को देखा हैए और अब आप सभी जीवन की युवा अवस्था में प्रवेश करने के लिए अग्रसर हो। बाल अवस्था में आपको अध्ययन का कार्य कराना बहुत मुश्किल कार्य था हालांकिए यह युवा अवस्था में थोड़ा आसान जरुर हो गया। हमने जो कुछ भी किया ;चाहे अच्छा या बुराद्धए वो आप सभी को देश के भविष्य के लिए अच्छे मनुष्य के रुप में आकार देने की एक प्रक्रिया थी।
कार्यक्रम का सफल संचालन वरिष्ठ प्रवक्ता एम0ए0लारी इस अवसर पर ईश्वर चंद चौरसियाएअखिलेश यादवए दुर्गेश यादवए शबी अहमदए रियाज अहमदए नियाजअहमदएबिजय कसौधनए एम0ए0सिद्दीकी मो0फारूक सिद्दीकीए अंगद प्रसादए एम0एम0 खानए पी0एस0 चौहानए श्रवण कुमार एमुकेश मिश्रए अराधना गिरिए हमीदा बेगमए सीताराम चौहानए विनय पांडेय समेत विद्यालय के समस्त शिक्षक एवं शिक्षिकाएं उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.