Policemukhbir.Com
(पीएम) संवाददाता/नई दिल्ली ।  2018 वर्ष खत्म होने में अब सिर्फ 10 दिन बाकी रह गए हैं। ये 10 दिन अहम इसलिए हैं क्योंकि अगर इन 10 दिनों के भीतर आपने 3 अहम काम नहीं कराए तो आपको बड़े वित्तीय नुकसान उठाने पड़ सकते हैं। हम अपनी इस खबर में आपको इन्हीं तीन कामों के बारे में जानकारी दे रहे हैं, जिन्हें 31 दिसंबर तक पूरा कराना आपका बड़ा फायदा करा सकता है। जानिए इनके बारे में।

हर हाल में भर लें 31 दिसंबर तक ITR तो  अगर वित्त वर्ष 2017-18 का आईटीआर भरने में आप चूक गए हैं तो इसे हर हाल में 31 दिसंबर तक भर लें नहीं तो आपकी जेब ढ़ीली हो सकती है। हालांकि 31 दिसंबर से पहले आईटीआर भरने पर भी आपको 5 हजार रुपये का जुर्माना देना होगा, क्योंकि इसके भरे जाने की डेडलाइन (31 अगस्त 2018) खत्म हो चुकी है। लेकिन अगर

आप इस डेडलाइन में भी चूक कर जाते हैं और आप 1 जनवरी से 31 मार्च 2019 से पहले इसे भरते हैं तो बतौर जुर्माना आपको 10,000 रुपये देने होंगे। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि अगर आप 31 मार्च 2019 तक भी रिटर्न फाइल नहीं कर पाते हैं तो आपको वित्त वर्ष 2017-18 के रिटर्न फाइल करने का कोई भी मौका नहीं मिलेगा। यानी इस बार से आपको अपना आईटीआर तय आंकलन वर्ष में ही भरना होगा।

आपको अपने पुराने डेबिट (एटीएम) और क्रेडिट कार्ड को बदलवाना होगा। अगर आपके पास पुराना मैग्नेटिक स्ट्रिप वाला एटीएम कार्ड या क्रेडिट कार्ड है तो इसे हर हाल में बदलवाकर ईएमवी चिप वाला कार्ड ले लें। ऐसा नहीं करने पर 1 जनवरी से ये पुराने कार्ड काम करना बंद कर देंगे। इसलिए इस काम में देरी न करें और इसे साल खत्म होने से पहले ही बदलवा लें। अगर आपको मालूम करना है कि आपका कार्ड मैगस्ट्रिप कार्ड है या नहीं तो इसके लिए आप अपने कार्ड पर बाईं ओर गौर करें, अगर वहां कोई चिप नहीं लगी है तो वह मैगस्ट्रिप कार्ड है। वहीं अगर आपके कार्ड के ऊपर बाईं ओर कोई चिप लगी है तो यह कार्ड EMV चिप डेबिट कार्ड है।

बैंक खाते से जुड़वाएं अपना नंबर: अगर आपने एसबीआई की नेटबैंकिंग सेवा ले रखी है तो इसे आगे जारी रखने के लिए आपको हर हाल में 31 दिसंबर से पहले अपना मोबाइल नंबर बैंक खाते से जुड़वाना होगा। ऐसा न करने पर 1 जनवरी से आपकी नेट बैंकिंग सेवा रोकी जा सकती है। इसलिए इस काम को भी हर हाल में 31 दिसंबर से पहले पूरा करा लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.