83 वीं नारायणी गंडकी महाआरती कार्यक्रम का आयोजन

0
28
83 वीं नारायणी गंडकी महाआरती कार्यक्रम का आयोजन
बेलवा घाट संगम तट पर माघी पूर्णिमा एवं संत रविदास जयंती की पूर्व संध्या पर स्वरांजलि सेवा संस्थान द्वारा 83 वीं नारायणी गंडकी महाआरती
पीएम न्यूज़ सर्विस ठूठीबारी महराजगंज । भारत नेपाल सीमा पर अवस्थित बेलवा घाट संगम तट पर माघी पूर्णिमा एवं संत रविदास जयंती की पूर्व संध्या पर स्वरांजलि सेवा संस्थान द्वारा 83 वीं नारायणी गंडकी महाआरती कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ आचार्य पंडित अखिलेश्वर पांडे ,संस्थापक डी.आनंद, स्वरांजलि सेवा संस्थान के मैनेजिंग डायरेक्टर संगीत आनंद, भागवत कथा वाचक पंडित उदयभानु चौबे,
सप्त चंडी ट्रस्ट के अध्यक्ष श्री बालक दास बाबा जी महाराज, पंडित अवध किशोर मिश्र, उदय नारायण दूबे एवं बाल्मीकि नगर थाना के एएसआई ललित कुमार सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित करके किया। मुख्य अतिथि अखिलेश्वर पांडे ने संबोधन के क्रम में कहा कि माघ मास की पूर्णिमा का अपना अलग महत्व है ।
यह मास गुप्त नवरात्रि के नाम से भी प्रसिद्ध है । जिसमें शक्ति स्वरूपा सदानीरा तुलसी की अवतार भूता गंडकी की पूजा-अर्चना और महा आरती भक्तों को धर्म ,अर्थ ,काम और मोक्ष प्रदान करती है। गंडकी का संबंध श्रीहरि से है । पंडित उदयभानु चौबे ने कहा कि माघ पूर्णिमा को गंडकी तट पर भगवान विष्णु के सहस्र नाम के पाठ से जन्म जन्मांतर के पापों से मुक्ति मिल जाती है । विश्व शांति और कोविड-19 से मुक्ति हेतु संतो ने समवेत स्वर में विष्णु सहस्त्रनाम स्तोत्र एवं गजेंद्र मोक्ष स्तोत्र का विधिवत रूप से पाठ किया।
समाजसेवी संगीत आनंद ने कहा कि सर्वधर्म समभाव की भावना से ओतप्रोत यह महा आरती पर्यावरण संरक्षण संवर्धन के प्रति लोगों में जन जागृति पैदा करती है ।संस्था द्वारा विगत 9 वर्षों से घूम घूम कर भारत नेपाल सीमा पर दिव्यांग जनों को भोजन प्रदान किया जाता है। मानवीय संवेदनाओं को समझना ही धर्म है।
चर्चित कलाकार डी.आनंद ने कहा कि नारायणी गंडकी की महाआरती से वाल्मीकि धाम और त्रिवेणी धाम नेपाल पर्यटन को प्रसिद्धि और पहचान मिल रही है। थरुहट की गायिका भारती कुमारी , एवम् नायिका कुमारी संगीता ने समवेत स्वर में देवी पचरा प्रस्तुत किया । विशिष्ट प्रतिभाशाली व्यक्तित्व नारायणी गंडकी सम्मान से सम्मानित किए गए। समाजसेवी डॉ संजय प्रसाद ने कहा कि वाल्मीकि धाम और त्रिवेणी धाम पर्यटन को अंतर्राष्ट्रीय मानचित्र पर लाने हेतु यह संस्था विगत कई वर्षों से कार्य कर रही है ।
संत बालक दास बाबा जी महाराज ने माघी पूर्णिमा एवं संत रविदास के जीवन चरित्र को विशेष रुप से परिभाषित किया। गंगा मैया की जय, गंडकी माता की जय ,त्रिवेणी धाम की जय जय कार से संपूर्ण बेलवा घाट परिसर गुंजायमान हो उठा। राजेश यादव ने कहा कि हम जैसा अन्न खाते हैं वैसा ही विचार उत्पन्न होता है ।
विजय गुप्ता एवम् यादव जी डेयरी उद्योग के सौजन्य से महा प्रसाद की व्यवस्था की गई थी। इस मौके पर गायक कृष्णा कुमार ,समाजसेवी वीरेंद्र सिंह, अभिनेता रत्नेश राज, राम नारायण प्रसाद, गायक राजा कुमार, ईडीटर स्वरांजलि सरगम ,स्वरांजलि सेवा संस्थान की राष्ट्रीय अध्यक्षा अंजू देवी ,अभिनेता लल्लू पटेल, राकेश कुमार ,विशाल तिवारी ,रवि शुक्ला ,अविनाश सिंह, अनमोल कुमार ,सहित बड़ी संख्या में भक्त उपस्थित रहे। सूर्यास्त के पश्चात नारायणी गंड की महाआरती की गई। मंच संचालन डी.आनंद एवं आचार्य अखिलेश्वर पांडे ने किया। वहीं धन्यवाद ज्ञापन संगीत आनंद ने किया। नवयुवक कल्याण समिति के सदस्यों के साथ बड़ी संख्या में श्रद्धालु भक्तों की उपस्थिति बनी रही।
कथा पूजा हवन एवं भजन कीर्तन से घंटो भक्त लाभान्वित होते रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.