– एक पीकप हरा मटर व चालक सहित को लिया अपने कब्जे मे – पूछताछ के लिये साथ ले गई एस एस बी  सेवतरी अपने कैम्प – हो सकता है हरे मटर की तस्करी  पर बडा खुलासा

Policemukhbir.Com
(पीएम) संवाददाता/महराजगंज परसामलिक थाना  क्षेत्र के रेहरा गाव से एक पीकप पर लगभग 35 से 40 बोरी लदा हरा मटर की आने की सुचना पर आज सुबह 9 बजे भगवानपुर  एस एस बी  के जवानों को मिली सुचना मिलने के बाद दो बाईक से 6 जवान रेहरागाव के लिये निकल पडे मटर लदी पीकप व जवान बेलभार गाव मे आमने सामने हो गये जवानों ने मटर लदी पीकप को रोका तो तस्कर एस एस बी जवानों से उलछ गये और मारपीट पर आमद हो गये वहा काफी भीड इकट्ठा हो गया फिर मटर लदी पीकप लेकर चालक भागने लगा चालक तेज गति से सेखुआनी बाजार होते हुवे शंकर पुर गाव मे घुसा एस एस बी जवानो ने घटना की जानकारी अपने उच्चधिकारियों के देते रहे  व पीकप का पीछा करते रहे और सेखुआनी के ग्राम पंचायत शंकरपुर मे मटर लदी पीकप को घेर कर पकड लिये चालक व पीकप को एस एस बी अपने साथ सेवतरी कैम्प ले गई

 सीमवर्ती गाव रेहरा जहा रात दिन होता है हर वस्तु की जमकर तस्करी यह गाव एक दम सरहद पर ही बसा है आस पास के सभी तस्कर इसी नाके से भारतीय सामानो को कैरिग के माध्यम से नेपाल भेजकर खुब मालामाल होते है इस नाके से तस्करी करने वाले व्यक्ति चंन्द दिनो मे ऐशो आराम व अपार धन कमा कर लाल हो जा रहे है इस नाके को उच्चधिकारी हल्के मे लेते है तभी तो माह मे एक बार यहा एस एस बी जवानो व तस्करोंं मे मारपीट आम बात हो गया है अक्सर यहा एस एस बी व तस्करों मे मार पीट होता रहता है

बताते चले की इस समय रेहरा नाके से नेपाल से भारतीय क्षेत्र मे आ रही है चाईनीज हरा मटर  पूरा ग्रीन होता है यह मटर नेपाल के पिपरहिया मे नेपाल के तस्कर स्टोर करते है वही से भारतीय क्षेत्र के तस्कर साईकिल के माध्यम से रेहरा गांव मे स्टोर करते है जब एक पीकप मटर इकट्ठा हो जाता है तो तस्कर इस हरे मटर को भारतीय बाजार नौतनवा मे बेच देते है

व उपरोक्त थाना क्षेत्र के जिगिना गाव मे एक लाईसेंसी दुकान पर पहुचा देते है यहा सभी तस्करी का हरा मटर एक नंम्बर मे बदल जाता है फिर यह व्यवसायी मटर को इकट्ठा कर ट्रक के माध्यम से गोरखपुर व अन्य शहरो मे भेज देता है इसी मटर को केमिकल व पानी मे फुला कर सब्जी की दुकान व सफल मटर कह कर बिक जाती है

नेपाल मे हरा मटर भारतीय रुपये से 30 रुपया किलो मिलता है 50 किलो की बोरी होती है हरे मटर की कैरिग के लिये नेपाल से भारत लाने वाले साईकिल तस्कर को 5 0 रुपया प्रति बोरी के हिसाब से मिलता है यही हरा मटर भारतीय बाजार मे 50 रुपये प्रति किलो के रेट से तस्कर बेच देते है मटर की तस्करी काफी दिनो से चल रहा है जिसमे स्थानीय प्रशासन की संन्लिपता से इन्कार नही किया जा सकता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.