दो शिक्षक संघ में एक है फर्जी, अधिकारी होते गुमराह

हरदोई। जूनियर हाई स्कूल (माध्यमिक) शिक्षक संघ के दो गुटों को लेकर चल रहे विवाद पर अपर शिक्षा निदेशक रूबी सिंह ने सभी बीएसए को चेतावनी दी है।
निदेशालय से जारी आदेश में कहा गया है कि किसी भी जनपद में बीएसए को अधिकार नहीं है कि वह दोनों में से किसी संगठन की मान्यता या वैधता सुनिश्चित कर सकें।
चूंकि जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ का विवाद न्यायालय में विचाराधीन है, इस लिहाज से किसी भी संगठन की मान्यता या वैधता के लिए अपने स्तर से पत्र निर्गत न करें।
 दरअसल हरदोई समेत कई जनपदों में 02 जूनियर हाई स्कूल (माध्यमिक) शिक्षक संघ के दो गुटो के नेताओं में लंबे समय से विवाद चल रहा है।
Education
Education
जिले स्तर पर एक ही संगठन को मान्यता दी जा रही थी जिससे दूसरे संगठन के पदाधिकारी की उपेक्षित थे। हरदोई में जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ के एक गुट के प्रदेश अध्यक्ष योगेश त्यागी और उनकी पत्नी जिलाध्यक्ष सुनीता त्यागी बीएसए पर हनक के चलते दूसरे गुट के पदाधिकारी नजरअंदाज किए जा रहे थे।
प्रदेशअध्यक्ष दिनेश प्रताप सिंह गुट के पदाधिकारियों ने इस मामले से बेसिक शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारियों को अवगत कराया और उन्होंने मांग की, कि जब तक प्रकरण नयायालय में विचाराधीन है, और न्यायालय द्वारा मान्यता सुनिश्चित नही की जाती तब तक किसी एक संगठन को जिले स्तर पर मान्यता ना दी जाए।
दोनों संगठनों के पदाधिकारियों को बराबर समझा जाए। इस लिहाज से 04 जनवरी को अपर बेसिक शिक्षा निदेशक श्रीमती रूबी सिंह ने पत्र जारी करते हुए प्रदेश के सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया था कि वह किसी भी संगठन की वैधता सुनिश्चित नहीं कर सकते।
बावजूद इसके बेसिक शिक्षा विभाग के दफ्तरों में ये कथित शिक्षक नेता अधिकारियों की परिक्रमा करते नजर आते हैं। इससे आप अन्दाज लगा सकते हैं कि अपने स्कूल न जाकर अधिकारियों की जी हुजूरी करने वाले इन कथित नेताओं का उद्देश्य क्या होगा…?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.