रेलवे सेक्‍शन इन्‍जीनियर के आवास से चोरों ने हजारों का माल उड़ाया(संतकबीर नगर से अमित प्रताप मिश्र की रिपोर्ट )

0
466

रेलवे सेक्‍शन इन्‍जीनियर के आवास से चोरों ने हजारों का माल उड़ाया(संतकबीर नगर से अमित प्रताप मिश्र की रिपोर्ट )

– खलीलाबाद रेलवे कालोनी में है आवास, जीआरपी चौकी से मात्र 100 मीटर दूर

– चोरों ने बेखौफ होकर दिया घटना को अंजाम, लोगों में भय का माहौल

संतकबीरनगर।

खलीलाबाद रेलवे कालोनी के अधिकारी आवास भी अब सुरक्षित नहीं रह गए हैं। बेखौफ चोरों ने यहां तैनात रेलवे सेक्‍शन इन्‍जीनियर धर्मेन्‍द्र कुमार सिंह के घर में पीछे की कुण्‍डी तोड़कर हजारों का माल उड़ा लिया और मौके से फरार हो गए। स्थिति यह है कि रेलवे अधिकारी के आवास से जीआरपी चौकी 100 मीटर, आरपीएफ व जिला पुलिस की चौकी 200 मीटर की दूरी पर है।

खलीलाबाद चुरेब रुट के सीनियर सेक्‍शन इन्‍जीनियर धर्मेन्‍द्र कुमार सिंह रेलवे कालोनी के आवास संख्‍या जी-8 में रहते हैं। पिछले दिनों वे अपने सरकारी आवास का कमरा बन्‍द करके किसी कार्य से गोरखपुर चले गए थे। जब वे वहां से वापस लौटे तो देखा कि उनके कमरे के सामान अस्‍त व्‍यस्‍त हैं। चोर आंगन के रास्‍ते घुसे तथा पीछे की खिड़की तोड़कर अन्‍दर घुस गए। उन्‍होने बताया कि उस आवास में रखा हुआ उनका 15 हजार का हायर कम्‍पनी का टेलीविजन व उसके साथ ही साथ घर के अन्‍य छोटे बड़े सामानों को मिलाकर तकरीबन 30 हजार के सामान चोरों ने चुरा लिए थे। इस बात की जानकारी उन्‍होने मुकामी जीआरपी व कोतवाली खलीलाबाद की पुलिस को दी। लेकिन मुकदमा दर्ज करना तो दूर कोई पुलिसकर्मी या अन्‍य अधिकारी देखने तक नहीं पहुंचा। चोरी की इस घटना से उनका परिवार काफी आतंकित है। चोरों के हौसले जब इतने बुलन्‍द हो गए हैं कि वे जीआरपी से मात्र 100 कदम की दूरी पर स्थित घर में चोरी की घटना को अंजाम दे सकते हैं तो वे कुछ भी कर सकते हैं। इस मामले में कोतवाली प्रभारी से वार्ता की गई तो उन्‍होने बताया कि मामले की जानकारी उन्‍हें नहीं है। अगर ऐसी बात है तो मुकदमा दर्ज करके आवश्‍यक कार्यवाही की जाएगी और इस घटना का पर्दाफाश किया जाएगा।

——————————— 

फोटो 1 – खलीलाबाद रेलवे कालोनी में स्थित सीनियर सेक्‍शन इन्‍जीनियर का वह आवास जिसमें चोरी हुई

फोटो 2 – चोरी करने के लिए तोडी गई कुण्‍डी

फोटो 3- यहीं पर लगा था टेलीविजन जिसे चुरा ले गए चोर  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.