प्रधान सहित पांच को पुलिस ने भेजा जेल ,मां बेटे की पिटाई से गई थी चांदनी की जान

 

संतकबीरनगर से
अमित प्रताप मिश्र की
रिपोर्ट


संतकबीरनगर । महुली थाना क्षेत्र के ग्राम कुरसुरी के पास कुआनो नदी के किनारे मिली पिड़ारी पूर्वी निवासी चांदनी के शव के मामले का शनिवार को पुलिस ने खुलासा किया। चांदनी की मौत मां और बेटे की पिटाई से हुई थी। जबकि ग्राम प्रधान सहित तीन अन्य को साक्ष्य मिटाने का दोषी पाये जाने पर जेल भेज दिया गया। ग्राम पिड़ारी पूर्वी निवासी प्रकाश चौहान की 21 बर्षीय पुत्री चांदनी का शव मंगलवार को कुरसुरी गांव के पास कुआनो नदी के तट पर एक गढ्ढे से बरामद हुई थी। शव की पहचान होने के बाद मृतका के चाचा ने पुलिस को शिकायती पत्र देकर स्वाभाविक मौत का दावा किया था। परिजनो का कहना था कि जहरीला पदार्थ खाने के चलते चांदनी ने दम तोड़ दिया था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज कर मामले की जांच शुरू कर दिया था। पुलिस का दावा है कि 11 मई की शाम चांदनी फोन पर किसी से बात कर रही थी। जब भाई और मां ने उसे मना किया तो वह दोनो से झगड़ने लगी। चांदनी के बगावती तेवर से नाराज होकर उसकी पिटाई करना शुरू कर दिया। पिटाई के दौरान ही डंडे की चोट सिर के पिछले हिस्से मे लगने के कारण उसे ब्रेन हेमरेज हो गया। जिससे उसे उल्टी शुरू हो गई । अचानक बिगड़ी परिस्थितियो से मां बेटे भयभीत हो गये और दोनो ने चांदनी के जहरीला पदार्थ खा लेने की बात पड़ोसियों को बताई। उसकी मौत होने के बाद ग्राम प्रधान रामपाल और गांव निवासी श्रवण पुत्र शंकर और जोगिंदर पुत्र राम प्रीत ने शव को ठिकाने लगाकर साक्ष्य मिटाने की रणनीति तैयार किया। मामला खुलने पर सभी आरोपियों को धारा 304 ए व 201 आईपीसी के तहत जेल भेज दिया गया। इन्सपेक्टर शैलेन्द्र राय ने बताया कि सभी आरोपियों को न्यायालय मे पेश किया गया। जहां न्यायालय के आदेश पर उन्हे न्यायिक हिरासत मे भेज दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.